Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

ममता बनर्जी का एलान, राज्य में फ्री में होगा कोरोना का टीकाकरण

- sponsored -

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को एलान किया उनकी सरकार राज्‍य की जनता को फ्री में कोरोना वैक्‍सीन मुहैया करायेगी। हाल ही में केंद्र सरकार ने देश भर में 16 जनवरी से कोरोना वैक्‍सीन लगाने की घोषणा की थी। ममता सरकार के इस फैसले को राज्‍य विधानसभा के चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है। संभव है कि अगले गुरुवार से बंगाल में कोविड वैक्‍सीनेशन की शुरुआत हो जाये। राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने जानकारी दी है कि 14 जनवरी से हेल्‍थ वर्कर्स को कोरोना वैक्‍सीन की पहली डोज लगायी जायेगी। इन सभी को सीरम इंस्टिट्यूट आॅफ इंडिया की कोवीशील्‍ड वैक्‍सीन लगायी जायेगी। इसकी खेप पुणे से कोलकाता पहुंचनी है।

बंगाल में कोरोना से 20 और मौत
इस बीच, पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण से 20 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या शनिवार को बढ़कर 9,922 हो गयी। वहीं, संक्रमण के 787 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 5,59,886 हो गयी। स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 978 लोग संक्रमण से उबरे हैं, जिसके बाद रोगियों के ठीक होने की दर सुधर कर 96.79 प्रतिशत हो गयी। राज्य में कुल 5,41,930 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं। अब भी 8,034 लोग वायरस से संक्रमित हैं।

पीएम ने की उच्‍च-स्‍तरीय बैठक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना की स्थिति और टीकाकरण की तैयारियों को लेकर शनिवार को एक उच्च-स्तरीय बैठक की। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने देश में कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होने की तारीख का एलान कर दिया। देश में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू होगा। लोहिड़ी, मकर संक्रांति, पोंगल, माघ बिहु जैसे त्योहारों को देखते हुए 16 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू करने का फैसला किया गया। ये सभी त्योहार 15 तक निपट जायेंगे। 11 जनवरी को पीएम मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक भी करने वाले हैं। सबसे पहले करीब 3 करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्करों को टीका लगाया जायेगा। इसके बाद 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों और इससे कम उम्र के उन लोगों को टीके लगेंगे जो पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं। ऐसे लोगों की तादाद करीब 27 करोड़ है।

- Sponsored -

दो बार हो चुका है ड्राई रन
भारत में कोरोना टीकाकरण के पूर्वाभ्यास के लिए अब तक 2 बार देशव्यापी ड्राई रन भी किये जा चुके हैं। दूसरा देशव्यापी ड्राई रन शुक्रवार को हुआ था। कोरोना वैक्सीनेशन के ड्राई रन के दौरान अलग-अलग राज्यों से जो शिकायतें आयी हैं, उन्हें ठीक किया जा रहा है। ड्राई रन से पहले ही कुछ राज्यों ने सॉफ्टवेयर, कनेक्टिविटी और ब्रॉडबैंड से जुड़ी समस्याओं पर चिंता जता चुके हैं। देश में कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पहला ड्राई रन 28-29 दिसंबर को 8 जिलों में हुआ था।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored