Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

ब्रिस्बेन में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी दांव पर, नये खिलाड़ियों पर होगी बड़ी जिम्मेदारी

- Sponsored -

ब्रिस्बेन : भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीतनी है तो उसे ब्रिस्बेन मैदान में अपना इतिहास बदलना होगा। इस मैदान पर भारत कभी टेस्ट मैच नहीं जीत पाया है। दोनों देशों के बीच ब्रिस्बेन में 15 जनवरी से बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का चौथा और निर्णायक टेस्ट मैच होने जा रहा है। इसको लेकर टीम इंडिया ने अभ्यास शुरू कर दी है। बीसीसीआई ने अभ्यास सत्र के फोटो सोशल मीडिया पर शेयर किए। कैप्शन में लिखा- सिडनी में टीम इंडिया ने शानदार खेल दिखाया था। टीम अब फिर एकजुट होकर मैदान पर अभ्यास के लिए उतरी। अब गाबा (ब्रिस्बेन) के मैदान पर आखिरी मुकाबले के लिए तैयारी शुरू हुई। सीरीज का फैसला ब्रिस्बेन में होने जा रहा है। यदि भारत ब्रिस्बेन टेस्ट को जीतता है या ड्रॉ खेलता है तो वह बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने पास बरकरार रखेगा क्योंकि भारत ने 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया से पिछली सीरीज 2-1 से जीती थी।

भारत के सामने फिट-11 चुनने की समस्या चोटिल खिलाड़ियों की समस्या से जूझ रही भारतीय टीम को चौथे मैच में फिट-11 का चयन करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। कप्तान रहाणे और कोच रवि शास्त्री को निर्णायक टेस्ट में उतरने के लिए तेज गेंदबाजी आक्रमण पर माथा पच्ची करना होगा। बुमराह के चोटिल होने पर टी नाटराजन और शार्दुल ठाकुर में से किसी एक को मौका मिल सकता है।ऐसे में मोहम्मद सिराज गेंदबाजी अगुवाई करते नजर आएंगे। वहीं, रवींद्र जडेजा की जगह रिद्धीमान साहा को मौका मिल सकता है। पंत को बतौर बल्लेबाज खेलना तय माना जा रहा है। रोहित शर्मा, पुजारा, अश्विन और रहाणे को छोड़ दे तो बाकी खिलाड़ियों के पास टेस्ट का अनुभव नहीं है। ऐसे में नये खिलाड़ियों पर जिम्मेदारी बढ़ सकती है।

ऑस्ट्रेलिया का अजेय किला है ब्रिसबेन ब्रिस्बेन का मैदान ऑस्ट्रेलिया का अजेय किला माना जाता है, जहां उसने पिछले 33 वर्षों में कभी हार का सामना नहीं किया है और वह इस मैदान पर भारत से कभी नहीं हारा है। ऑस्ट्रेलिया ने ब्रिस्बेन में पिछले सात टेस्ट लगातार जीते हैं। ऑस्ट्रेलिया को ब्रिस्बेन में आखिरी बार हार नवम्बर 1988 में मिली थी जब उसे वेस्ट इंडीज ने नौ विकेट से हराया था। ब्रिस्बेन में टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत नवम्बर- दिसम्बर 1931 से हुई थी और भारत ने इस मैदान पर अपना पहला टेस्ट नवम्बर-दिसम्बर 1947 में खेला था, जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने पारी और 226 रन से जीत हासिल की थी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -