Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

इटावा सफारी में जेसिका बनी माँ,अखिलेश गदगद

- Sponsored -

इटावा 12 दिसंबर (सन्मार्ग लाइव) चंबल की छवि को बदलने के लिये उत्तर प्रदेश के इटावा में स्थापित लायन सफारी में शेरनी जेसिका ने चौथी बार फिर से दो शावको को जन्म दिया है। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शावकों के जन्म पर खुशी का इजहार किया है।

सफारी के उपनिदेशक सुरेश चंद्र राजपूत ने शनिवार को बताया कि लायन सफारी में शेरनी जेसिका ने एक साथ दो शावकों को जन्म दिया है। दोनो शावक रात 12 बजकर आठ मिनट और एक बजकर 13 मिनट पर पैदा हुए है। इस बात की तस्दीक नही की जा सकी है कि ये शावक नर हैं या मादा ।

- Sponsored -

उन्होने कहा कि चौथी बार मां बनी जेसिका सफारी की आन,बान और शान है। जेसिका सफारी की असली खेवनहार बन गई है। जेसिका के लिए कुछ यादगार करने का इंतजाम सफारी प्रबंधन करने जा रहा है। उसके नाम पर कोई सड़क अथवा स्मारक किया जा सकता है। उसने अपने बाड़े में दो शावकों को जन्म दिया है । कीपर के अलावा किसी को जेसिका के पास जाने की इजाजत नही दी गई है।

सीसीटीवी कैमरे के जरिये सफारी पार्क के विशेषज्ञ डाक्टर जेसिका के प्रसव पर नजर बनाये हुये थे। गर्भावस्था में शेरनी जेसिका का सफारी में खास ख्याल रखा जा रहा था। इसके साथ ही सफारी में अब नौ शावक हो गए हैं । इनमें आठ शावक जेसिका के और एक जेनिफर का है। सफारी में शावक, शेर और शेरनी मिलाकर कुल संख्या 21 हो गई है।

दो शावको के पैदा होने की खुशी के सफारी प्रबंधन ने मिठाईयाें का वितरण किया।

उन्होने बताया कि शेरनी जेसिका को चौथी बार माॅ बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है । इससे पहले उसने 26 जून 19 को एक साथ चार शावको को जन्म दिया था । इससे पहले उसने छह अक्टूबर 2016 को सिंबा और सुल्तान को जन्म दिया था। 15 जनवरी 2018 को बाहुबली को जन्म दिया था। डा. गौरव श्रीवास्तव और उनकी टीम ने शेरों की देखरेख और उनका कुनबा बढ़ाने के लिए काफी परिश्रम किया है ।

शिंबा सुल्तान और बाहुबली इस समय लायन सफारी की रौनक बने हुए है। वैसे इससे पहले जुलाई और अगस्त 2015 में शेरनी हीर और ग्रीष्मा ने पांच शावकों को जन्म दिया था । इनमें से दो की मौत तो जन्म के साथ ही हो गई जबकि कुछ दिनों बाद शेष तीन शावको की भी मौत हो गई । शेरनी हीर के दो शावक 18 जुलाई 2015 को पैदा हुए है जिनकी जन्म के साथ ही मौत हो गई जब कि इसी तरह से शेरनी ग्रीष्मा के पैदा हुए तीन शावको मे दो की 21 जुलाई 2015 को एक शावक की 14 अगस्त 2015 को मौत हो गई । हीर और ग्रीष्मा के शावको की मौत के बाद लायन सफारी के ब्रीडिंग सेंटर पर सवाल उठने लगे थे लेकिन शेरनी ग्रीष्मा ने इस मिथक को तोड दिया है ।

शेरनी जेसिका की मैटिंग शेर मनन से कराई गई थी। शेरनी का गर्भकाल 105 दिन का होता है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जेसिका के दो शावको की पैदाइश पर पूरी सफारी टीम को बधाई दी है ।

सं प्रदीप

सन्मार्ग

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -